मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना राजस्थान 2019 एग्रीकल्चर कनेक्शन प्रोग्राम फार्म

मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना राजस्थान 2019, सोलर पंप योजना एग्रीकल्चर कनेक्शन प्रोग्राम फार्म, Mukhyamantri solar pump subsidy in rajasthan, rajasthan सोलर पंप कृषि कनेक्शन योजना, ताजा राजस्थान न्यूज़ सोलर पंप सब्सिडी, राजस्थान सोलर पंप ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, सोलर पंप सब्सिडी राजस्थान 2019.

प्रिय पाठको आज हम आपको अपने इस लेख के द्वारा एक बहुत ही अच्छी योजना की जानकारी देने जा रहे है। जी हाँ अगर आप राजस्थान राज्य से संबंध रखते है तो मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना का लाभ लेने के लिए पीछे ना हटे। यह राजस्थान सरकार की योजना को किसानो के लिए शुरू किया है। ताकि किसानो को वित्तीय एवं सामाजिक लाभ मिल सके। मुख्यमंत्री सोलर पंप स्कीम राजस्थान एक बहुत ही बढ़िया योजना है । अगर कोई इस योजना के लिए आवेदन करता है तो उसे इस योजना के तहत अवशय लाभ होने वाला है। यह एक एसा उपहार है जो की राजस्थान की राज्य सरकार ने राज्य के गरीब किसानो के लुए शुरू किया है।

मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना राजस्थान

तो दोस्तो आपको इस राजस्थान सोलर पंप कृषि योजना के लाभ के लिए सबसे पहले ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाना बहुत ही जरूरी है। तो अब आप सब सोच रहे होंगे की ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कैसे करना है। तो आपको ज्यादा घबराने की जरूरत नहीं है। यह सारी जानकारी हम आज आपको इस पोस्ट के जरिये देने वाले है। परंतु ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन से पहले आपको आपकी पात्रता और इसके लिए इस्तेमाल होने वाले दस्तावेज़ की जानकारी होना भी जरूरी है। उसकी जानकारी भी हम आपको अपने लेख के जरिये देने वाले है। तो आइये अधिक जाने मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना राजस्थान। पहले के समय में, किसानों के खेतों में सिंचाई का एकमात्र साधन बारिश था. लेकिन समय के साथ प्रगति करते हुए किसानों ने ट्यूबवेल का उपयोग करना शुरू किया.

Tube well के माध्यम से आप के खेत में एक छेद करके पानी निकाला जाता है. इस पानी को मोटर द्वारा बाहर निकाला जाता है. इस मोटर को चलाने के लिए मुख्य रूप से बिजली या डीजल का उपयोग किया जाता है. बहुत से ऐसे राज्य जहां पर बिजली की कमी के कारण किसान आज भी डीजल से चलने वाले पंपों का इस्तेमाल करते हैं. लेकिन सरकार ने इस दशा को बदलने के लिए सोलर पंप योजना राजस्थान को शुरू किया है. इसके साथ ही केंद्र सरकार ने भी “कुसुम योजना” को लागू किया है. योजनाओं के अंतर्गत किसानों के पुराने डीजल एवं बिजली से चलने वाले सिंचाई पंप को बदलकर सौर/ सोलर पंप लगाया जाएगा. इसका मुख्य कार्य सूर्य की किरणों से ऊर्जा लेकर मोटर को चलाना होगा. जिससे कि किसानों, का अतिरिक्त खर्चा भी कम हो जाएगा.

Rajasthan सोलर पंप कृषि कनेक्शन योजना

तो दोस्तो सोलर पंप योजना के शीर्षक से ही आपको पता चल गया होगा की यह स्कीम के तहत किसान को सोलर पंप मुहैया करवाए जाएंगे। जिसके लिए की किसानो को कम लागत मे ही कृषि से लाभ होने वाला है। जैसा की हम जानते है की जब कोई किसान खेती बाड़ी करता है तो खेतो मे इस्तेमाल होने वाले उपकरण के लिए उनको बिजली, ईधन, डीजल इत्यादि की जरूरत पड़ती है। आजकल इस महंगाई के युग मे बिजली के बिल इत्यादि का खर्चा कोई आम किसान नहीं उठा सकता है।

Rajasthan सोलर पंप योजना

तो एसे मे किसान खेती बाड़ी करके जीतने पैसे कमाता नहीं है उतने पैसे तो वह खर्च ही कर देता है। लेकिन अगर कोई किसान इस मुख्यमंत्री सोलर कृषि पंप योजना के तहत आवेदन करता है तो उसे सोलर पंप राज्य सरकार की तरफ से दिये जाएंगे। इस सोलर पंप को केवल सूर्य की ऊर्जा से चलाया जाता है। इसके लिए आपको किसी भी और प्रकार का की खर्च नहीं आता है। आपको कोई भी बिजली बिल नहीं देना होता है। तो सबसे ज्यादा खर्च बिजली का बिल ही होता है। एसे मे किसानो की आर्थिक स्थिति बहुत ही अच्छी होने वाली है।

सोलर पंप सब्सिडी राजस्थान 2019

इस योजना के तहत आपको 3 एचपी और 5 एचपी के तहत अनुदान सरकार की तरफ से दिया जाएगा। लेकिन इस योजना के तहत केवल उनही लोगो को लाभ दिया जाएगा जो इस योजना के तहत लाभ लेने के लिए  पात्र होंगे। और अगर आपके पास पात्रता है तो आप इस योजना के लिए सबसे पहले ऑनलाइन आवेदन करे तब लाभ ले।

सौर ऊर्जा पंप सयंत्र योजना के लिए पात्रता :-

  • किसान के पास खुद की 0.5 हेक्टेयर भूमि होना जरूरी है। अगर उसके पास 3 एचपी सौर ऊर्जा पंप योजना के लिए आवेदन करना है तो। और अगर आपने 5 एचपी सौर पंप के लिए आवेदन करना है तो आपके पास 1.0 हेक्टेयर भूमि होना जरूरी है।
  • ग्रीन हाउस शेड नेट 1000 मीटर 3 एचपी सोलर पंप के लिए और 2000 मीटर 5 एचपी सोलर पंप के लिए जरूर है।
  • लो टनल 0.5 हेक्टेयर 3 एचपी सोलर पंप के लिए और 0.75 हेक्टेयर 5 एचपी सोलर पंप के लिए आवशयक है।
  • 3 और 5 एचपी सोलर पंप के लिए भूमिगत पानी 100 मीटर की अधिकतम गहराई के साथ जरूरी है।

Related – कुसुम योजना

योजना हेतु जरूरी दस्तावेज़ :-

  • जब भी कोई किसान आवेदन करने जाये तो अपने पास पासपोर्ट साइज़ की फोटो ।
  • किसान का खुद का आधार कार्ड और साथ मे भामाशाह कार्ड की प्र्तिलिपि ।
  • एफ़िडेविट किसान के द्वारा तैयार करवाया गया ।
  • सोलर पंप के लिए तकनीकी रिपोर्ट।
  • किसान की खुद की जमीन की जमाबंदी।
  • किसान के नाम की खाता कॉपी ।

सौर ऊर्जा पंप के तहत मिलने वाली अनुदान राशि :-

जो किसान इस योजना के तहत आवेदन करते है उन्हे अनुदान राशिराज्य सरकार की तरफ से दी जाएगी। 3 एचपी पर 25 परसेंट और 5 एचपी पर 20 परसेंट अनुदान के अतिरिक्त लागत का 45 परसेंट राजस्थान की राज्य सरकार की तरफ से दिया जाएगा। इस तरह कुल लागत का 65% अनुदान दिया अजाएगा।

सोलर पंप योजना राजस्थान 2019 एग्रीकल्चर कनेक्शन प्रोग्राम रजिस्ट्रेशन फार्म

  1. मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना के लाभ के लिए आपको ऑनलाइन आवेदन करना जरूरी है। जिसके लिए आपको इसकी आधिकारिक वैबसाइट पर क्लिक करना होगा।
  2. लाभ के लिए आपको कृषि कनैक्शन बिजली विभाग मे आपको 1000 रुपए जमा करवाने के बाद आवेदन कर सकते है।
  3. आपको इस योजना के तहत केवल 40% लागत ही लगानी है। वाकी की 60% राशि राज्य सरकार की तरफ से दी जानी है।

तो आप हमे बताए की आपको मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना राजस्थान की जानकारी कैसी लगी। हमने अपनी तरफ से पूरी कोशिश की है आपको सारी जानकारी दे। अगर आपको इसके अलावा कोई और जानकारी चाहिए तो आप हमसे कमेंट करके पूछ सकते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *