[डिटेल] वन नेशन वन राशन कार्ड योजना 2020 आवेदन करें? हिन्दी में जानकारी

वन नेशन वन राशन कार्ड योजना 2020 आवेदन करें? हिन्दी में जानकारी, One Nation One Ration Card Yojana in Hindi, one nation one ration card scheme, Benefits, एक देश एक राशन कार्ड।

केंद्र सरकार ने “एक राष्ट्र एक राशन कार्ड” प्रणाली को लागू करने की योजना की घोषणा की है, जिसका उद्देश्य यह सुनिश्चित करना होगा कि कोई भी लाभार्थी सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पीडीएस) का लाभ उठाने में सक्षम हो, चाहे वह देश के किसी भी हिस्से में हो। इसका मुख्य मकसद प्रवासी श्रमिकों को लाभ पहुंचाना है, विशेष क्षेत्रों में विशेष दुकानों पर लाभार्थियों की निर्भरता को कम करने और सार्वजनिक वितरण में भ्रष्टाचार को कम करने में मदद करेगा, ताकि एक से अधिक राशन कार्ड रखने वाले लोगों के व्यवहार को समाप्त किया जा सके और विभिन्न राज्यों तथा दुकानों से राशन निकाल सके।

वन नेशन वन राशन कार्ड योजना 2020

उपभोक्ता मामलों, खाद्य और सार्वजनिक वितरण के लिए केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान द्वारा इस उपाय को सार्वजनिक किया गया था| जिन्होंने खाद्य सचिवों और राज्य सरकारों के अन्य अधिकारियों, भारतीय खाद्य निगम, केंद्र के प्रतिनिधियों के साथ इस मुद्दे पर चर्चा करने के लिए गुरुवार को एक बैठक की अध्यक्षता की। वन नेशन वन राशन कार्ड योजना 2020 के अधिक जानकारी इस लेख में नीचे प्रदान की गई है| राम विलास पासवान ने कहा कि यह योजना सभी पीडीएस दुकानों में पॉइंट-ऑफ-सेल (PoS) मशीनों की उपलब्धता पर टिका है। “आंध्र प्रदेश, हरियाणा और कुछ अन्य राज्यों जैसे विभिन्न राज्यों में सभी पीडीएस दुकानों पर PoS मशीनें उपलब्ध हैं, लेकिन देश भर में लाभ प्रदान करने के लिए 100% उपलब्धता की आवश्यक है|

2017 में खाद्य मंत्रालय द्वारा जारी एक बयान में, इलेक्ट्रॉनिक PoS उपकरणों को स्थापित करने के उद्देश्य को “लाभार्थियों के प्रमाणीकरण और लाभार्थियों को सब्सिडी वाले खाद्यान्न वितरण की इलेक्ट्रॉनिक रिकॉर्डिंग” के रूप में माना गया था। इस प्रक्रिया का उद्देश्य लेनदेन की मैन्युअल रिकॉर्डिंग के साथ रिकॉर्ड रखने की स्पष्टता करना है, जिससे यह सुनिश्चित होता है।

वन नेशन वन राशन कार्ड योजना

one nation one ration card scheme के तहत विभिन्न राशन कार्ड

इस योजना के तहत डेटाबेस, जिसे PDS (IMPDS) के एकीकृत प्रबंधन के रूप में जाना जाता है, को हर बार अपडेट किया जाएगा, जब कोई लाभार्थी राशन का लाभ उठाएगा।खाद्य मंत्रालय ने दावा किया है कि इस प्रणाली ने लाभार्थियों के लिए महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, झारखंड, गुजरात, हरियाणा,  कर्नाटक, केरल, राजस्थान, तेलंगाना और त्रिपुरा जैसे राज्यों के किसी भी जिले (और न केवल उनकी निर्धारित दुकान से) राशन खरीदना संभव बनाया है। बाकी सभी राज्यों ने आश्वासन दिया कि वे रामविलास पासवान जी के साथ गुरुवार की बैठक में जल्द ही IMPDS को लागू करेंगे। हालांकि अभी तक यह निश्चित नहीं किया गया है कि नए राशन कार्ड केंद्र द्वारा जारी किए जाएंगे या राज्य सरकारों द्वारा दिए जाएंगे|

राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत, भारत में सभी राज्य सरकारों को ऐसे घरों की पहचान करनी है जो सार्वजनिक वितरण प्रणाली से सब्सिडी वाले खाद्यान्न खरीदने के लिए पात्र हैं और उन्हें राशन कार्ड प्रदान करते हैं। एनएफएसए (NFSA) के तहत दो प्रकार के राशन कार्ड हैं:-

  1. प्रायोरिटी राशन कार्ड प्राथमिकता वाले राशन कार्ड (प्रायोरिटी राशन कार्ड) ऐसे परिवारों को जारी किए जाते हैं जो अपनी राज्य सरकार द्वारा निर्धारित पात्रता मानदंडों को पूरा करते हैं। प्रत्येक प्राथमिकता वाला घर प्रति सदस्य 5 किलोग्राम खाद्यान्न का हकदार है|
  2. अंत्योदय राशन कार्ड (AAY) – यह राशन कार्ड “गरीब से गरीब” परिवारों को जारी किए जाते हैं। प्रत्येक AAY घर 35 किलोग्राम अनाज का हकदार है।

NFSA (एनएफएसए) लागू होने से पहले, तीन प्रकार के राशन कार्ड थे:-

  1. अभव पॉवर्टी लाइन (APL) राशन कार्ड – यह राशन कार्ड उन लोगों को जारी होते थे जो गरीबी रेखा से ऊपर रहने वाले परिवारों थे (योजना आयोग ने अनुमान के द्वारा)। इन परिवारों को 15 किलोग्राम खाद्यान्न (उपलब्धता के आधार पर) प्राप्त होता था।
  2. बिलो पॉवर्टी लाइन (BPL) राशन कार्ड जो गरीबी रेखा के नीचे रहने वाले परिवार है उन्हें बिलो पावर्टी लाइन और बीपीएल राशन कार्ड उपलब्ध करवाए जाते थे| इन परिवारों को 25-35 किलोग्राम खाद्यान्न मिलता था|
  3. अंत्योदय (AAY) राशन कार्ड इस प्रकार के राशन कार्ड “गरीब से गरीब” परिवारों को जारी किए जाते थे| इन परिवारों को 35 किलोग्राम खाद्यान्न प्राप्त होता था|

वन नेशन वन राशन कार्ड स्कीम के लाभ (Benefits)

  1. इस योजना के शुभारंभ के साथ, उपभोक्ता पूरे भारत में किसी भी दुकान से राशन एकत्र कर सकते हैं।
  2. वन नेशन वन राशन कार्ड योजना से उन लोगों को मदद मिलेगी, जिन्हें दूसरे राज्य में काम करने की जरूरत है।
  3. लोग डिस्काउंट रेट में राशन एकत्र कर सकते हैं।
  4. चूंकि यह योजना राशन कार्ड को आधार कार्ड से जोड़ती है, इसलिए यह योजना चोरी और धांधली को रोकने में लाभदायक होगी।
  5. स्कीम के साथ, उपभोक्ता केवल एक राशन वितरण केंद्र/ दुकान ताकि सीमित नहीं रहेगा।
  6. राशन वितरण ई-पॉस मशीन द्वारा किया जा सकता है।

एक देश एक राशन कार्ड का उद्देश्य

  1. एक देश एक राशन कार्ड योजना का उद्देश्य है कि राशन कार्ड के सभी लाभार्थियों, खासतौर पर प्रवासी लोगों को राशन कार्ड के जरिए राशन की उपलब्धता मिलती रहे|
  2. योजना के तहत लाभार्थी अपनी पसंद की राशन की दुकान से सार्वजनिक वितरण प्रणाली का उपयोग कर सकेंगे और वहां से राशन हासिल कर पाएंगे|
  3. केंद्रीय भंडारण निगम, भारतीय खाद्य निगम तथा राज्य भंडारण निगम में कुल 612 लाख टन अनाज एकत्रित किया जाता है| इस एकत्रित किए हुए अनाज को भी लोगों में बांटा जाता है जिनकी कुल संख्या लगभग 81 करोड़ है| इतने बड़े दायरे का होने के कारण रोशन की काफी बार कालाबाजारी होती है जिस योजना से उस पर रोक लगाई जा सकेगी|
  4. इस योजना के चलते देश भर में कितना अनाज भंडारण ओं में जमा है तथा कितने लोगों ने को अनाज बांटा गया है इसमें कंप्यूटरीकरण होने के कारण पारदर्शिता आएगी|
  5. इस योजना का एक उद्देश्य देशभर के विभिन्न डिपो होल्डर द्वारा हो रहे भ्रष्टाचार को भी रोकना है|

वन नेशन वन राशन कार्ड के लिए कैसे आवेदन फॉर्म

केंद्र सरकार ने वन नेशन वन राशन कार्ड योजना को शुरू करने का फैसला किया है। आधिकारिक घोषणा के बाद यह योजना और इसके लाभ पूरे भारत में लागू होंगे। उसके बाद ऑनलाइन आवेदन शुरू होंगे| अब तक इसकी आवेदन की प्रक्रिया शुरू नहीं हुई है लेकिन इसे जल्द ही जारी किया जाएगा जिसके लिए आपको हमारे साथ बने रहना होगा| जैसे ही योजना का आवेदन फॉर्म भरने की प्रक्रिया शुरू होती है हम उसे इस लेख में प्रकाशित कर देंगे।

जाने:- प्रधानमंत्री अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति योजना

तो दोस्तों यह थी वन नेशन वन राशन कार्ड योजना 2020 की अब तक की उपयोग संपूर्ण जानकारी| आशा करते हैं कि इस लेख को पढ़ने के बाद आपको इस योजना की सही से जानकारी मिली हो| उधना से जुड़े प्रश्न पूछने के लिए हमें कमेंट बॉक्स में लिखकर भेजें| इस योजना के आवेदन फॉर्म की जानकारी हासिल करने के लिए हमारे साथ बने रहे जिसके लिए हमारे सरकारी योजना पोर्टल को फेसबुक पर लाइक करना ना भूलें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *