ड्रिप सिंचाई अनुदान योजना राजस्थान|स्प्रिंकलर सेट सब्सिडी आवेदन

ड्रिप सिंचाई अनुदान योजना राजस्थान, स्प्रिंकलर सेट सब्सिडी आवेदन, ड्रिप सिंचाई सब्सिडी, स्प्रिंकलर सिंचाई योजना, स्प्रिंकलर सिंचाई योजना , ड्रिप अनुदान राजस्थान 2019, ड्रिप सिस्टम सब्सिडी इन राजस्थान, ड्रिप सिंचाई किट की कीमत, drip sinchai yojana, Sprinkler Yojana, drip irrigation information in hindi.

भारत एक कृषि प्रधान देश है. यहां पर हर राज्य में अलग अलग फसलें सब्जियां दाल चावल गेहूं इत्यादि उगाए जाते हैं. हर राज्य के किसान खेती के लिए अलग-अलग सिंचाई के माध्यमों का उपयोग करते हैं. इनमें मुख्य ता पुराने तरीके से ट्यूबवेल द्वारा सिंचाई की जाती है. जिससे की धरती से पानी निकाल कर सीधा खेतों में दिया जाता है. यह तकनीक काफी पुरानी बर्न कारगर है. गेहूं की खेती में मुख्य रूप से ऐसे ही सिंचाई की जाती है. जिसमें किसान बिजली एवं डीजल से चलने वाली मोटर का उपयोग करते हैं. इससे किसान आसानी से खेती कर पाता है.

ड्रिप सिंचाई अनुदान योजना

लेकिन धीरे-धीरे जलस्तर कम होने के कारण इनमें से कुछ तरीके हम यहां पर आप लोगों के साथ साझा करने जा रहे हैं.पानी की कमी होना निश्चित है. भारत के ऐसे ही राज्यों में से एक राज्य राजस्थान भी है. जहां पर सिंचाई के लिए पानी की बहुत कमी है. इसके अलावा भारत के अन्य राज्यों जैसे कि मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र फिल्म उत्तर प्रदेश में भी की जगह पर पानी की बहुत कमी है. ऐसे स्थानों में किसान सिंचाई के लिए अलग-अलग तरीकों का उपयोग करते हैं. इन्हीं में से कुछ तरीके आज हम आपके साथ यहां पर साझा करने जा रहे हैं. इनमें से एक है ड्रिप सिंचाई योजना एवं स्प्रिंकलर सिंचाई योजना। यह दोनों सिंचाई योजनाएं बहुत पहले से ही किसान उपयोग कर रहे हैं लेकिन, अभी अभी इस तरह की सिंचाई को किसानों में बहुत तेजी से अपनाया है.

Related:- मुर्गी पालन लोन योजना

स्प्रिंकलर सेट सब्सिडी योजना

ड्रिप सिंचाई अनुदान योजना राजस्थान एवं स्प्रिंकलर सेट सिंचाई सब्सिडी अब ऑनलाइन उपलब्ध है. बहुत से राज्य में सरकार द्वारा ड्रिप एवं स्प्रिंकलर दोनों के लिए सरकार द्वारा अनुदान दिया जा रहा है. अनुदान का अर्थ है सब्सिडी, जिस का सहारा लेकर किसान आसानी से इस योजना का लाभ ले सकते हैं.

ड्रिप सिंचाई अनुदान योजना राजस्थान

मध्य प्रदेश कि राज्य सरकार ने किसानों को 7 मार्च 2019 तक आवेदन करें का मौका दिया है. आवेदन की प्रक्रिया उसके बाद भी चलती रहेगी, लेकिन पहले आवेदन करने वालों को पहले प्राथमिकता दी जाएगी।

ड्रिप सिंचाई योजना एवं स्प्रिंकलर सिंचाई योजना के अंतर्गत सब्सिडी

इन दोनों योजनाओं मैं अलग अलग तरीके से सब्सिडी दी जा रही है. दोनों की योजनाओं में वर्ग के अनुसार सब्सिडी का प्रावधान अलग अलग है. इसके बारे में अधिक जानकारी आप नीचे से जान सकते हैं.

स्प्रिंकलर सेट सब्सिडी योजना

इस योजना के अंतर्गत लघु एवं सीमांत किसानों को सब्सिडी दी जाएगी। के अंतर्गत किसान जिन लोगों ने इसके लिए आवेदन कर रखा है मैं पूरे प्रक्रिया का लगभग 55% अनुदान दिया जाएगा।

इसके अलावा अन्य किसान भाई जो कि अन्य वर्गों से आते हैं उन्हें 45% सब्सिडी दी जाएगी।

ड्रिप सिस्टम सिंचाई सब्सिडी योजना

इस योजना में भी लघु एवं सीमांत किसानों को लगभग 55% तक की सब्सिडी सरकार द्वारा दी जाएगी।

इसके अलावा अन्य किसान भाइयों को ऊपर वाली योजना की तरह 45 प्रतिशत तक की सब्सिडी दी जाएगी।

मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना राजस्थान

ड्रिप अनुदान राजस्थान 2019 आवेदन प्रक्रिया

  1. आवेदन करने के लिए किसान अपने नजदीकी ग्राम पंचायत एवं कृषि विभाग कार्यालय में संपर्क कर सकते हैं.
  2. जहां पर जाकर आप दोनों योजना में से ड्रिप या स्प्रिंकलर का चुनाव कर सकते हैं.
  3. दोनों में से एक का चुनाव करने को आप इस योजना के लिए सब्सिडी फार्म भरा जाएगा।
  4. सब्सिडी फार्म में आपको आपकी सारी जानकारी संक्षेप में देनी होगी जो कि, आवेदन फार्म में पूछी गई है.
  5. इसके बाद आवेदन फार्म को जमा करें।
  6. आपके आवेदन को अधिकारियों द्वारा जांच परख करने के बाद स्वीकृति और निरस्त किया जाएगा।
  7. स्वीकृत होने की स्थिति में आप आगे की कार्रवाई कृषि अधिकारी से पूछ सकते हैं, कि उन्हें कब तक सब्सिडी का लाभ मिलेगा।

दोस्तों हमारी यह हमेशा कोशिश रहती है कि हम अपने किसान भाइयों के लिए नई नई योजना लेकर आते रहे. ड्रिप सिंचाई योजना एवं स्प्रिंकलर सिंचाई योजना का लाभ किसान आसानी से ले सकते हैं. इसके अलावा अन्य किसी प्रकार के प्रश्न या सुझाव के लिए आप हमें नीचे दिए गए कमेंट में जरूर लिखें। हमारी यह हमेशा कोशिश रहती है कि, आपके द्वारा दिए गए सुझावों को हम अपने वेबसाइट पर उपयोग करें। जिससे कि हम अपनी वेबसाइट की गुणवत्ता को बढ़ा सकें। इसी चीज की आशा करते हुए हम आपसे आज्ञा चाहते हैं. धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *